Sale!

Vastunishth Sanskrit Sahityam

(1 customer review)

240.00 180.00

वस्तुनिष्ठ संस्कृत साहित्यम्

TGT, PGT, UGC-NET/JRF, C-TET, UP-TET, DSSSB, GIC & Degree College Lecturer M.A, B.Ed & Ph.D Entrance Exam आदि सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में उपयोगी पुस्तक

लेखक: सर्वज्ञभूषण निदेशक संस्कृतगङ्गा, दारागञ्ज प्रयागराज

SKU: SG-002 Categories: , , , Tag:
Add To Wishlist

Description

वस्तुनिष्ठ संस्कृत साहित्यम्

TGT, PGT, UGC-NET/JRF, C-TET, UP-TET, DSSSB, GIC & Degree College Lecturer M.A, B.Ed & Ph.D Entrance Exam आदि सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में उपयोगी पुस्तक

लेखक: सर्वज्ञभूषण निदेशक संस्कृतगङ्गा, दारागञ्ज प्रयागराज

  • संस्कृतगङ्गा की पुस्तकें सभी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध संस्कृतगड़ा की पुस्तकें डाक द्वारा आर्डर करने के लिए हमें कॉल करें 8004545095, 8004545096
  • इस संस्करण में UP-TGT पाठ्यक्रम में सम्मिलित सभी साहित्यिक ग्रन्थों की व्याकरणात्मक टिप्पणी के लगभग 80 पृष्ठ और जोड़े जा रहे हैं, जिसमें सन्धि, समास, कारक, क्रियापद और प्रत्ययों की चर्चा की गयी है। विश्वास है कि परिवर्धित और संशोधित संस्करण आपको अच्छा लगेगा।
  • आज संस्कृतगङ्गा का यह संस्कृतसाहित्यम् रूपी ज्ञानपुष्प आपके हाथों में समर्पित करते हुए अत्यन्त प्रसन्न हूँ। मित्रो! 21वीं सदी ज्ञानशताब्दी के रूप में देखी जा रही है, अतः वही अग्रगण्य होगा जिसके पास ज्ञान की ताकत होगी, इसमें कोई सन्देह नहीं है कि ज्ञान का अक्षय भण्डार संस्कृत में है और ऐसी संस्कृतज्ञाना के नाविक हम संस्कृतज्ञ हैं। यदि ज्ञान का अमूल्य प्रसाद विश्व को चाहिए तो उसके वितरक हम भारतवासी संस्कृतज्ञ होंगे। यह भारतीयों की धरती कपिल, कणाद, यास्क, सायण, पाणिनि, पतञ्जलि, वाल्मीकि, व्यास, भास, कालिदास, शङ्कराचार्य, विवेकानन्द जैसे ज्ञानियों की धरती है। जिन्होंने अपने ज्ञानप्रकाश से ब्रह्माण्ड को प्रकाशित किया है, आज एकबार पुनः ज्ञानालोक से सम्पूर्ण विश्व को प्रकाशित करने का समय आ गया, आओ! संस्कृतज्ञानसूर्य से सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड को आलोकित करने का सङ्कल्प लें।

Additional information

Weight 451 g
Dimensions 23.9 × 18.5 × 1.3 cm

1 review for Vastunishth Sanskrit Sahityam

  1. DEEPAK SHASTRI

    bahut sundar

Add a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *